रीज़ा

रीजा (RIZA) जैसे ही आपने यह नाम पढ़ा वैसे ही आपके दिमाग में यह सवाल आने लगा होगा  कि आखिर रीज़ा है क्या ?  यह उपन्यास किस पर आधारित है ?

किसी जगह का नाम,  किसी लड़की का नाम  किसी संस्था किसी मिशन या फिर किसी और चीज का नाम है ?

जो भी हो यह आपको रीज़ा उपन्यास के शुरुआत के कुछ पेज पढ़ते ही पता लग जायेगा।

riza

 

यह उपन्यास मेरे दिमाग की एक कल्पना है।

मगर भगवान जी की कृपा और मेरे गुरू जी व माता-पिता के आर्शीवाद से मेरी यह कल्पना शब्दों में इस तरह उतरी है कि पढ़ने वाले को यह कल्पना इतनी वास्तविक लगती है कि जैसे यह उनकी ही असल जिंदगी का कोई हिस्सा हो।

इस उपन्यास की सबसे खास बात यह है कि इसकी कहानी किसी भी व्यक्ति की व्यक्तिगत पारिवारिक  सामाजिक व्यावसायिक और अध्यात्मिक जिंदगी को टच करती हुये व रोमांच बनाये हुये एक ही दिशा में आगे बड़ती है।

 

रीज़ा (RIZA) को पढ़ने के बाद मेरे कुछ दोस्तों ने मुझे फोन करके कहा कि –

‘‘ रीज़ा पढ़ते समय उन्हें ऐसा लग रहा था कि वे खुद के जीवन की ही कोई घटना पढ़ रहे थें।

 

जिस किसी ने भी रीजा के  शुरुआत के दो-तीन पेज जैसे ही पढ़े उन्हें यह इतनी दिलचस्प और रोमांचित लगी है कि उन्होने फिर जल्द से जल्द इसे पूरा पढ़ना चाह और पढ़ा है।

अभी तक जितने भी लोगों ने इसे पढ़ा है उन्होंने इस riza उपन्यास को अत्याधिक पसंद किया है।

और उन्होने रीजा के बारे में कहा है कि-

riza उपन्यास में प्रयोग की गई भाषा शैली अत्याधिक प्रभावशाली है। रीजा में लिखे हुये  शब्द ऐसे लग रहे है कि एक दिल से निकले हुये शब्द दूसरे दिल से कुछ कह रहे हों ।  रीज़ा में लिखे शब्द और वाक्य पढ़ने वाले के दिल की गहराई को छू रहे हैं।

riza उपन्यास स्कूल कॉलेज इंजिनियर मेडिकल व सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले स्टूडेन्ट्स से लेकर चर्च के फादर साधु-महात्मा स्कूल कॉलेज के टीचर्स बच्चों-बड़ों सभी को अत्याधिक पंसद आ रही है।

इस उपन्यास की फ्री PDF डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करें

free download in pdf format

 

written by Manvendra Singhअगर आपके पास भी हिंदी या english में कोई अच्छी कबिता, कहानी, या आर्टीकल है जो आप livepathshala.com पर पोस्ट करना चाहते हैं। तो आप अपना लेख हमें भेज सकते हैं । पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ पोस्ट करेंगें। आप अपना लेख हमारे पास भेजने के लिए नीचे दी लिंक पर क्लिक करें। Post your article/ अपना लेख हमारे पास भेजने के लिए यहाँ क्लिक करें     अगर आपको यह कहानी पसंद आई तो इसे like, share and comments जरूर करें

share your thoughts

comments