livepathshala

एक सफल किताब कैसे लिखे – बहुमूल्य सुझाव हिंदी में

एक सफल किताब कैसे लिखे – बहुमूल्य सुझाव हिंदी में।
लेखक समस्याओं , प्रेरणाओं को भावनात्मक व आदेशात्मक शैली में पन्नों पर उकेरने में माहिर होता है।
लेखक वह होता है जो पाठकों को अपने लेख से प्रभावित करता है। आज का यह विशेष आर्टिकल आपको आपकी ‘‘ सफल किताब ‘‘ बनाने में सहायक होगा।

 

कुछ भी लिखने से पहले खुद से करें ये तीन प्रश्न –
 क्यों लिखूँ ?writer
क्या लिखूँ ?
कैसे लिखूँ ?

एक सफल किताब का सफर इन्हीं प्रश्नों से होकर गुजरता है। खुद को लेखक साबित करने से पहले खुद से प्रश्न पूछें कि आप क्यों लिखना चाहते हैं ?

 

सफल किताब के लिए सुझाव- क्यों लिखूँ ? –

  • खुद से प्रश्न पूछे कि आप लिखना क्यों चाहते हैं ?
  • क्या लिखना आपको अंदर से प्रेरित करता है या फिर आपने स्वयं को लेखक मानने की एक गर्व शील प्रतिज्ञा कर डाली है।
  • यदि आप सोचते हैं कि लेखन आपको प्रेरित करता है।
  • यह आपकी अंतर्रात्मा को आवाज देता है, यह कोई गर्व शील प्रतिज्ञा नहीं अपितु आप एक समाजसेवा करना चाहते हैं ।
  • लिखने में आपको मजा आता है, लिखना आपका सौंक है।
  • तब यकीन मानिये कि आपको ‘‘पेन और कागज ‘‘ उठा ही लेना चाहिए।
  • लिखना आज से ही शुरू कर देना चाहिए।

 

सफल किताब के लिए सुझाव- क्या लिखूँ ?-

आपकी आत्मा का उपदेश आपको लेखन कार्य के लिए प्रेरित तो करता है। किंतु लिखने से पहले खुद से दूसरा प्रश्न यह पूछ लें कि आप सच में लिखना क्या चाहते हैं।
यहाँ लेखक को यह बात आमतौर पर हमेशा, याद रखनी चाहिए कि हमें वही लिखना चाहिए जो हम पाठकों को अपने लेख में पढ़ानाचाहते हैं।
यहाँ अगर रुची की बात की जाये तो आपके लिखते समय आपके दिमाग में हमेशा यह बात होनी चाहिए कि आपके पाठक कौन हैं ?  एक ही विचार पर हर वर्ग के लोग सहमत नहीं होगे।

यह भी पढ़ें  आप किस के लिए लिखना चाहते हो ?

 

सफल किताब के लिए सुझाव-कैसे लिखूँ –

  • पूर्व में पूछे गये दो महत्वपूर्ण प्रष्नों के द्वारा ‘‘क्यों लिखूँ ? ‘‘ एवं ‘‘क्या लिखूँ ? ‘‘ हमने यह बात जानी कि हमें क्या लिखना है और क्यों लिखना है ?
  • तीसरा प्रश्न कैसे लिखूँ एक लेखक को बेहतर लेख लिखने में सही मार्गदर्शन करता है।
  • यही बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर आप विचार मजबूत हैं और आपकी कहानी भी बढ़िया है।                       परंतु सही ढंग से आप उसे लेख में नहीं उतार पाये तो आपके मजबूत विचार व बढ़िया कहानी को जो श्रेय मिलना चाहिए था वो नहीं मिल पायेगा।

 

  • यदि आपके मस्तिष्क में कोई कहानी विशेष या विषय वस्तु से संबंधित जानकारियाँ व सूचनायें एकत्रित हैं ।
  • तब आपको शब्दों की आकर्षण माला द्वारा हमेशा पाठकों का दिल लुभाना चाहिए।
  • यहाँ मेरा मतलब जानकारी-रूपी मोतियों को भाषा शैली के अनमोल धागे में बाँधे रखना चाहिए। यह आपको एक सफल किताब बनाने में काफी कारगार सिद्ध होगा।

यदि ऊपर दिये गये तीनों सवल आपने खुद से किये और आपको उन जवाब सही मिले तब आप एक सफल किताब लिखने की शुरुआत कर दिजिए।

आइये अब जानते हैं उन महीन बातों के बारे में जो किताब को आकर्षक व सफलता की महान सीढ़ी चढ़ाने का जरिया होती हैं।

  1. पात्रlivepathshala
  2. खतरों से खेलना या मुकाबला
  3. प्रेरणायें
  4. सेटिंग्स बिठाना
  5. रुकावटें
  6. क्लाइमैक्स या उपसंहार
  7. क्लोजिंग/अंत

 

1. सफल किताब के लिए सुझाव-पात्र/कैरेक्टर्स –

  • सर्व प्रथम किताब लिखते वक्त पात्रों का निर्धारण अवश्य कर लें।
  • आवश्यकतानुसार पात्रों की संख्या आप घटा- बढ़ा सकते हो।
  • किंतु यहाँ ध्यान रखने योग्य बात यह है कि ज्यादा पात्रों का होना दर्शकों को भ्रमित तथा लेखक को उसके अह्म या मुख्य विषय से भटका भी सकते हैं।
  • लेख को अधिकतर मुख्य पात्रों के बीच ही रखें ।

 

2. सफल किताब के लिए सुझाव-पात्रों के बीच मुकाबला –

ज्यादातर पात्रों के बीच विषय-वस्तु को दर्शाये रखने के लिए सब्जेक्ट मुकाबला पूर्ण होना अति अनिवार्य है।
किंतु कहानी या विषय को लिखते समय मुकाबला ऐसा न हो कि पात्रों को उनकी अह्म भूमिका एवं दर्शकों के लिए बोरियत् साबित हो। यह ध्यान रखने योग्य बात है।

 

3. सफल किताब के लिए सुझाव- प्रेरणायें 

ज्यादातर पात्रों के माध्यम से या विषय वस्तु से आपको प्रेरणाप्रद वस्तुयें ही दर्शायी जानी चाहिए।
ताकि लोगों तक उस अह्म संदेश को पहुँचाया जाये जो आप यथार्थ में लिखना चाहते हो।
याद रखें कभी भी सीधे लोगों को मार्गदर्शन देने की कोशिश न करें । पात्रों के द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से ही लोगों को कुछ सिखायें ।

 

livepathshala 

4. सफल किताब के लिए सुझाव- सामंजस्य बिठाना

पात्र, खतरों से भरे पलों या मुकाबलों तथा प्रेरणापद लेखों के बीच, आपकी स्वयं की वह भाषा शैली जो पाठकों को रिझाने का कार्य करती है, से एक अनोखा सामंजस्य बिठाना चाहिए।
ध्यान रहे, आपकी संपूर्ण किताब को सफल बनाने वाला यह अह्म विषय है। लेखकों को इस प्रकार के सामंजस्य की अच्छी परख होनी चाहिए।

 

5. सफल किताब के लिए सुझाव-रुकावटें 

कई बार विषय वस्तु को समझने हेतु और समझाने में हमें कई प्रकार की रुकावटों या दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
इन रुकावटों की प्रत्येक जरूरत को समझें व खत्म करें । रुकावटों से पार पाना आपके लक्ष्य की प्रथम सफल कहानी होगी।

 

6.सफल किताब के लिए सुझाव- क्लाइमैक्स या उपसंहार 

आपकी किताब का अंत सम्पूर्ण कहानी को संक्षेप में संपूर्णता का रूप देता है।

उपसंहार लिखते वक्त आपकी किताब के प्रत्येक वस्तु से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदुओं को इस समय पुनः दोहराया जाना चाहिए। आपकी अह्म विषय वस्तु को एक बार पुनः इस समय लिखना सफल किताब की निशानी होता है।

 

7. सफल किताब के लिए सुझाव-क्लोजिंग

जब आपका लेख एक संपूर्ण किताब में तब्दील हो जाने को पूरी तरह से तैयार है तब आपको जिस महत्वपूर्ण विषय की जरूरत पड़ती है वह होती है- क्लोजिंग।

क्लोजिंग से तात्पर्य यह होता है कि आपकी किताब का कवर- डिजाईन, आकर्षक शीर्षक, संक्षेप विवरण, लेखक परिचय, अनुक्रम, प्रस्तावना व उपसंहार सबकुछ एक नियमित रूप में सामंजस्य ढंग से व्यवस्थित हो।

इसके लिए आप किताब को स्वयं डिजाइन कर सकते हैं या फिर किताब को स्वयं किसी प्रसिद्ध प्रकाशन को भेंट कर सकते हैं ।

ध्यान रखने योग्य बिंदु क्लोजिंग व कबर डिजाइन ऐसा होना चाहिए जिसकी अग्र भाग पर छपी-छाप में सब कुछ स्वयमेव बयाँ हो सके।

 

इस प्रकार इन महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखकर आप एक सफल किताब की रचना दुनिया के प्रतिभाशाली रंगमंच पर कर सकते हैं।
खुद से किये गये तीनों सवाल आपको लिखने के लिए प्ररित करते हैं। तथा अन्य सातों बिंदुओं को ध्यान में रखकर यकीनन एक सफल किताब की रचना की जा सकती है।

 

 

written by

piyush tiwari

 

 

 

 

Piyush Ashok Tiwari

अगर आपके पास भी हिंदी में कोई आर्टीकल है जो आप livepathshala.com पर पोस्ट करना चाहते हैं। तो आप अपना लेख हमें भेज सकते हैं । पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ पोस्ट करेंगें। आप अपना लेख हमारे पास भेजने के लिए नीचे दी लिंक पर क्लिक करें। Post your article/ अपना लेख हमारे पास भेजने के लिए यहाँ क्लिक करें आपको यह आर्टीकल पसंद आया, तो इसे like, share and comments जरूर करें

share your thoughts

comments