नयनो से गिरते अश्क़…..

नयनो से गिरते अश्क़ हलचल मचवाते हैं दो पलो की कशमकश को बहलाते है मन में मस्ती के बाग मुर्झाते हैं जब अश्क़ जमीन पर आते है नयनो से गिरते अश्क़….. livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems अश्क़ो की जन्नत सी बन जाती है जब पलकों से पलके टकराती है नयनो का कोई नया जादू […]

Read More

हो गए आँसू पुराने

हो गए आँसू पुराने अब हँसी के गीत गाएँगे नई फिजाओ से अपने चमन को चमकाएगे जुगुनू बनकर अपनी रातो को अमर बनाएगें हो गए आँसू पुराने……… कटती जिंदगी की रातो में बरसते हुए गम के बादलों में हम अपनी धूप को महकाएँगे गुजरते लम्हों की वारदात को बड़वाग्नि सा बनाएँगे हँसकर अपनी जमीन की उपज फिर से बढ़ाएगे हो गए आँसू पुराने….. livepathshala पर प्रकाशित सभी […]

Read More

ऐ मुसाफिर तू चलता जा…

ऐ मुसाफिर तू चलता जा तुझे तेरी मंजिल मिल जाएगी जो कोई तुझको रोकेगा कुछ बातें उसे समझ आएगी ऐ मुसाफिर तू चलता जा… livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems जब होगी तुझ पर घनघोर अंधेरो की बरसाते आएगी तुफानो की वो राते उन मुस्कुराती आंधियो में भी मजबूत खुद को करता जा ऐ मुसाफिर […]

Read More

नाम जिसका खाकी है

नाम जिसका खाकी है जीने केे हैं कई तरीकेे , ऊब चुकेे हैं सारे जी के । बस एक तरीका बाकी है , नाम जिसका खाकी है ।। livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems कब तक सोयेगा दस या ग्यारा , या शहीद हो जायेगा कोई और बेचारा । चिंता है मुझे कि चिंता नहीं तुझे देश […]

Read More

प्यार का साथी कौन होता है

प्यार का साथी कौन होता है ?  एक बार सभी भावनायें पार्टी करने केे लिए एक द्वीप (island) पर गये हुयेे थे । तभी एक घोषणा हुुई कि उस द्वीप पर भयानक तूफान आने वाला हैै, वहाँ पर मौजूद सभी तुरंत वहाँ सेे चले जायें । सभी तुरंत अपनी -अपनी नाव (boat) लेकर जाने लगेे […]

Read More

कृपया रोईए नही, आंसू पोछिए और प्रेरणा लीजिये

हर लडकी के लिए प्रेरक कहानी, और लड़कों के लिए अनुकरणीय शिक्षा, कोई भी लडकी की सुदंरता उसके चेहरे से ज्यादा दिल की होती है! अशोक भाई ने घर मेँ पैर रखा.‘अरी सुनती हो !’ आवाज सुनते ही अशोक भाई की पत्नी हाथ मेँ पानी का गिलास लेकर बाहर आयी और अशोक भाई बोले “अपनी […]

Read More

बनकर दिया तुम जलते रहो

बनकर दिया तुम जलते रहो जग को जगमग करते रहो हमेशा आगे बढ़ते रहो खुद को पग-पग पर सोचते रहो बनकर दिया तुम जलते ….! livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems गर है भुजाओ में दम तुम्हारे या भीतर तुम्हारे दमकल की पावक है जूनून की वो ललक बस तुम उसको चीरते चलो बनकर दिया […]

Read More

शरबतो के रंग में तुम खो ना जाना

शरबतो के रंग में तुम खो ना जाना बेगानी सी हवाओ में तुम खुद को भूल ना जाना … ये होती तो बङी मदहोश , करती सबको बेहोश मगर तुम इस बेहोशी में खुद को भुल ना जाना शरबतो के रंग में तुम खो ना जाना. . livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems मिलते है […]

Read More

जहाँ दो लोगो के बीच अधिक प्यार होता है

जहाँ दो लोगो के बीच बहुत अधिक प्यार होता है वहाँ क्या होता है ? एक साधु महात्मा अपने शिष्यों के साथ एक गांव से गुजर रहे थे, तभी  एक पति -पत्नी को आपस मे झगड़ते देख,उनके एक शिष्य ने उनसे पूछा ‘‘ गुरूजी यह दोनो पास-पास खड़े हैं, फिर एक दूसरे तक अपनी बात […]

Read More

मैं हूँ क्योंकि, हम हैं

 मैं हूँ क्योंकि, हम हैं !  उबुन्टु ( UBUNTU ) एक सुंदर कथा…! उबुन्टु ऑपरेटिंग सिस्टम ( Ubuntu Operating System ) जानते हैं, किससे प्रेरित है इस ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम ? कुछ आफ्रिकन आदीवासी बच्चों को एक मानव  विज्ञानी ने एक खेल खेलने को कहा। उसने एक टोकनी में मिठाइयाँ और कैंडीज एक वृक्ष […]

Read More

ऊपर वाला जब देता है तो

ऊपर वाला जब देता है तो छप्पर फाड़ के देता है । एक बार किसी राज्य का राजा एक नगर में भृमण कर रहा था। राजा अक्सर गाँव-गाँव जाकर लोगों की समस्या को सुनता और उनमें सुधार की पूरी कोशिश करता। उसके कर्तव्यपरायण के चर्चे दूर देशों तक फैले हुए थे। ऐसे ही गाँव में […]

Read More

कदम रखो अपना ऐसा

कदम रखो अपना ऐसा जिसे कोई हटा न सके दृढ़प्रतिज्ञ बनकर कुछ करो वैसा जिस कोई कर न सके…… livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems रहो इस धरा पर तुम वेसे जिसे कोई हरा न सके कभी न करो घमंड ऐसा जिससे तुम्हे नष्ट होना पडे…   उगता सूरज करता है इशारा उसकी तरह तुम […]

Read More

हमें बिना डरे

हमें बिना डरे बहुत पुरानी बात है, एक बहुत घना जंगल हुआ करता था । एक बार किन्हीं कारणों से पूरे जंगल में भीषण आग लग गयी। सभी जानवर देख के डर रहे थे, की अब क्या होगा? थोड़ी ही देर में जंगल में भगदड़ मच गयी सभी जानवर इधर से उधर भाग रहे थे, […]

Read More

आज वही बचपन याद आ गया

आज वही बचपन याद आ गया… जनम मरण के बंधन को आज कोई तीर सा मिल गया लहरो भरी हवाओ को जैसे कोई सुर सा मिल गया लगा कुछ ऐसा नवजीवन सा आ गया आज वही बचपन याद आ गया… livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems हुए घन भी घने पराए भी बने अपने विलोचन […]

Read More

ये कैसी क़यामत आई है

ये कैसी क़यामत आई है लोटा बचपन एक नई जवानी आई है अनजाने है लोग यहाँ ये कैसी क़यामत आई है livepathshala पर प्रकाशित सभी  hindi poems लोटा बचपन एक नई जवानी आई है अनजाने है लोग यहाँ पर ये केसा सिलसिला लाई है ये कैसी क़यामत आई है…. अजनबी है दुनिया यहाँ बेगानी सी […]

Read More